गोडवाड़ की गौरव गाथा-७९

मीरां के आराध्य मुरलीधर, घाणेराव
(अ) तठा पछै बरस। आडौ थाल नै राव मालदे अजमेर ऊ पर कटक कियौ। राठौड़ वीरमदे नुं अजमेर था ही परौ बाढियौ। अजमेर आपरै हाथ आयौ। पछै वीरमदे एक बार नहारणे (नारायण) गयौ। केहीक दिन कछहावे सेषावतां राषीयौ। पछै राव मालदे दिन-दिन जोर चढ़तौ गयौ। अजमेरे राठौड़ महेस घडसीहोत नुं पछै दीयौ। डीडवाणौ लीयौ। डीडवाणौ राठौड़ कूंपै महैराजोत नुं पटै दीयो। साहेभर (सांभर) लीनी। राव रा कामंदार आय-आय सांभर बैठा।  तेरे राठौड़ राव वीरमदे चाटसू गयौ। उठै ही राव री फौजा वांसे हुई आई। राठौड़ वीरमदे लालसोट गयौ। उठै ही रहण न दियौ। पछै वीरमदे बावजी आया, गाडा छोडिया।
(ख) नवागढ़ मालदे लीया तिणरी विग
१. मेड़तो मेड़तिया कना सूं बेला दोय लीयो।
२. संवत १५८८  वीरमदे कनां सू लीयौ।
३. संवत १६१३ रा जेमल कना सूं लीयौ
स्वर्गवास – राव वीरमदे का स्वर्गवास विक्रमी संवत १६०० अर्थात १५४४ ई. फरवरी में हुआ।
उपरोक्त प्रसंग से यह स्पष्ट होता है कि मेड़ता रा राव वीरमदे अजमेर, नाराणा, अमरसर, डीडवाना, सांभर, चाट्सू, लालसोट, बांवली आदि स्थानों पर रहा व अमरसर को छोड़कर कुछ समय के लिये ही सही अपना राज्य स्थापित किया।
राव जयमल – वीरवर जयमल मेड़ता राज्य के शासक राव वीरमदेव के ज्येष्ठ युवराज थे और राव वीरमदेव जी का स्वर्गवास होने के पश्चात् विक्रमी संवत १६०० के फाल्गुन (१५४४ ई. फरवरी) में वीर जयमल राठौड़ वीरमदेव (मेड़तिया) के ११ पुत्रों में सबसे बड़ा था। जिसका जन्म वि.सं. १५६४ अश्विनी सुदी ११ शुक्रवार (१५०७ ई. १७ सित.) का हुआ था।
वीर जयमल राठौड़, वीरमदेव के देहान्त के बाद उत्तराधिकारी जयमल के रूप में मेड़ता का शासक होकर राजगद्दी पर बैठा।
मीरांबाई राव जयमल के पिता के छोटे भाई रतनसी (रतनसिंह) की कन्या अर्थात चचेरी बहन थी। यह वीरम से नौ वर्ष बड़ी थी। इन दोनों भाई-बहिनों में अत्यन्त स्नेहभाव था। दोनों भाई बहिन सगुण वैष्णव भक्तों के रूप में भक्ति जगत में विख्यात हो चुके थे। (क्रमश:)
डा. भंवरसिंह राठौड़ ‘घाणेराव’

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: